सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल रीवा से विन्ध्य क्षेत्र को मिली आधुनिक उपचार सुविधा की सौगात

आधुनिक उपचार सुविधाओं के नये आयाम खोलता सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल


विन्ध्य क्षेत्र में अब तक उपचार सुविधाओं के लिये श्यामशाह मेडिकल कालेज रीवा तथा संजय गांधी हास्पिटल रीवा ही प्रमुख केन्द्र थे। रीवा में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत निर्मित सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल ने आधुनिक उपचार सुविधाओं के नये आयाम खोले हैं। अब रीवा में भी गंभीर रोगों का कुशलता और पूरी सफलता के साथ उपचार हो रहा है। सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल में हाल ही में ओपेन हार्ट सर्जरी के दो सफल ऑपरेशन किये गये हैं। इसी तरह मूत्राशय से संबंधित रोगों के सौ से अधिक सफल ऑपरेशन हो चुके हैं। जिन रोगों के उपचार के लिये विन्ध्य के निवासी भोपाल, नागपुर, दिल्ली, लखनऊ, बनारस, इलाहाबाद, जबलपुर, मुम्बई जैसे महानगरों के चक्कर लगाते थे उन रोगों का उपचार सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल में होने लगा है। इस हास्पिटल ने विन्ध्य क्षेत्र को आधुनिक उपचार सुविधाओं की सौगात दी है।

सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना तथा राज्य शासन के सहयोग से 150 करोड़ 58 लाख रूपये की लागत से किया गया है। इसके भवन का निर्माण केएमवी प्रोजेक्ट लिमिटेड द्वारा किया गया है। इसका शिलान्यास एक अगस्त 2016 को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था। हास्पिटल भवन का कुल क्षेत्रफल 18035 वर्गमीटर है। हास्पिटल में 45 करोड़ 16 लाख रूपये की लागत से आधुनिक चिकित्सा उपकरण स्थापित किये गये हैं। हास्पिटल में कुल 244 बिस्तर हैं। इसमें वर्तमान में कॉर्डियोलॉजी, कॉर्डियो वस्कुलर थोरेंसिक सर्जरी, न्यूरोलॉजी, न्यूरो सर्जरी, नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी, नवजात शिशु उपचार इकाई, एनेस्थीसिया तथा रेडियो डायग्नोसिस विभाग संचालित हैं। इस हास्पिटल में 6 आधुनिक माड्यूलर ऑपरेशन थियेटर तथा गंभीर हृदय रोगों के उपचार के लिये एक कैथलैब स्थापित की गई है। इसके चौथे तल में 30 बिस्तरों का आईसीयू वार्ड बनाया गया है। इसमें न्यूरो सर्जरी वार्ड में 44 बिस्तर तथा न्यूरोलॉजी वार्ड में 22 बिस्तर उपलब्ध हैं। हास्पिटल में 10 उच्च तकनीक वाली डायलिसिस मशीनें तथा दो सीआरआरटी मशीनें स्थापित की गई हैं। इस हास्पिटल में माइक्रो स्कोप के द्वारा ब्रेन ट्यूमर के ऑपरेशन तथा स्पाइन सर्जरी की भी सुविधा है। हास्पिटल के यूरोलॉजी विभाग में होलियम लेजर के द्वारा प्रोस्टेड तथा स्टोन सर्जरी, लीथोट्रेप्सी, किडनी से पथरी निकालने तथा किडनी ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध है।